Buy Books Online > Poetry > Mein Jo Hoon, 'Jon Elia' Hoon
Mein Jo Hoon, 'Jon Elia' Hoon : Book by Jon (Jaun) Elia

Mein Jo Hoon, 'Jon Elia' Hoon

Product Details:    Share this by email:

ISBN: 9789350728833    Publisher: Vani Prakashan Year of publishing: 2016     Format:  PaperBack No of Pages: 156        Language: Hindi
About the author: Jon (Jaun) Elia
मैं जो हूँ जॉन एलिया हूँ जनाब मेरा बेहद लिहा ज़ कीजिएगा। कहना... Read more
मैं जो हूँ जॉन एलिया हूँ जनाब मेरा बेहद लिहा ज़ कीजिएगा। कहना ये जो जॉन एलिया के कहने की खुद्दारी है कि मैं एक अलग फ्रेम का कवि हूँ, यह परम्परागत शायरी में बहुत कम ही देखने को मिलती है। जैसे - साल हा साल और इक लम्हा, कोई भी तो न इनमें बल आया ख़ुद ही इक दर पे मैंने दस्तक दी, ख़ुद ही लड़का सा मैं निकल आया जॉन से पहले कहन का ये तरीका नहीं देखा गया था। जॉन एक खूबसूरत जंगल हैं, जिसमें झरबेरियाँ हैं, काँटे हैं, उगती हुई बेतरतीब झाड़ियाँ हैं, खिलते हुए बनफूल हैं, बड़े-बड़े देवदारु हैं, शीशम हैं, चारों तर फ़ कूदते हुए हिरन हैं, कहीं शेर भी हैं, मगरमच्छ भी हैं। उनकी तुलना में आप यह कह सकते हैं कि बा क़ी सब शायर एक उपवन हैं, जिनमें सलीके से बनी हुई और करीने से सजी हुई क्यारियाँ हैं इसलिए जॉन की शायरी में प्रवेश करना ख़तरनाक भी है। लेकिन अगर आप थोड़े से एडवेंचरस हैं और आप फ्रेम से बाहर आ कर सब कुछ करना चाहते हैं तो जॉन की दुनिया आपके लिए है।
Read less

Recommended Books for you - See all

Price: Rs. 195   Rs.162
You save: Rs.33
Vendor : Vani Prakashan, delhi
BUY NOW

Free Shipping on all orders of Rs.500 and above. Add Rs.30 otherwise. | Delivered in 5 working days

(Cash on delivery available)

Be assured. 7 days Return & Refund Policy.
Click here

Rs.200 OFF

on purchase of Rs.500 & above

1.Click on Add to Cart & Proceed to Checkout
2.Under payment options, choose
"Redeem Coupon Code/Gift Certificate"
3.Enter Promo Code "SHOP200"
4.Get Rs.200 off, Pay Balance Amount

Valid upto 21st July,13

Rs.200 OFF

on purchase of Rs.500 & above

Terms & Conditions